CPR क्या होता है? CPR का फुल फॉर्म क्या होता है? CPR Full Form In Hindi

आज हम जानेंगे CPR का फुल फॉर्म क्या होता है? (CPR Full Form In Hindi) के बारे में क्योंकि आपने अक्सर टीवी में या फिर अखबारों में ऐसी खबरें पढ़ी होंगी कि किसी व्यक्ति को अचानक से बेहोशी आ गई और डॉक्टर तुरंत ना मिल पाने की अवस्था में किसी व्यक्ति ने उस व्यक्ति की जान बचाने के लिए उसे सीपीआर दिया और जब आप वीडियो देखते हैं तो उसमें दिखाई देता है कि एक आदमी अपने दोनों हाथों को पेशेंट के दोनों फेफड़ों पर रख कर के उसे जोर जोर से दबा देता है। इसे ही सीपीआर देना कहा जाता है।

ऐसे में आपके मन में कभी ना कभी यह बात अवश्य उत्पन्न हुई होगी की भला सीपीआर आखिर होता क्या है अथवा सीपीआर का क्या मतलब होता है। आज के इस आर्टिकल में जानेंगे कि CPR का मतलब क्या होता है, CPR Ka Full Form Kya Hota Hai, CPR Meaning In Hindi, What Is CPR Full Form In Hindi की जानकारियां तो, आइए जानते है।

CPR का फुल फॉर्म क्या होता है? – What is CPR Full Form In Hindi?

Cpr Full Form
Cpr Full Form

CPR : Cardiopulmonary Resuscitation

CPR का Full Form “Cardiopulmonary Resuscitation” होता है। हिंदी में CPR का फुल फॉर्म “कार्डियो पल्मोनरी रिससिटैशन” होता है। आइए अब आपको यह बताते हैं कि भला सीपीआर आखिर होता क्या है। बता दें कि यह कोई साधन नहीं है बल्कि यह हाथों से ही किया जाता है और इसकी गिनती मेडिकल प्रक्रिया के अंतर्गत होती है। जब किसी व्यक्ति को बेहोशी आती है और ऐसा लगता है कि उसकी जान कुछ ही समय में जाने वाली है तो आखरी उपाय के तौर पर इमरजेंसी की अवस्था में उस पर सीपीआर ट्राई किया जाता है।

सामान्य शब्दों में कहा जाए तो जब किसी व्यक्ति को अचानक से ही कार्डियक अरेस्ट आ जाता है या फिर उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगती है तो इमरजेंसी के तौर पर अगर उसे तुरंत ही इलाज नहीं मिल पाता है तो ऐसी स्थिति में किसी व्यक्ति के द्वारा उस व्यक्ति पर सीपीआर ट्राई किया जाता है। कई बार ऐसा करने पर व्यक्ति की जान बच जाती है और फिर उसे ट्रीटमेंट के लिए अस्पताल भेज दिया जाता है।

CPR में क्या होता है?

सामान्य भाषा में कहें तो जब कोई व्यक्ति सीपीआर किसी व्यक्ति पर परफॉर्म करता है तो इसके जरिए वह उसे सांस लेने में उसकी सहायता करने का प्रयास करता है। एग्जांपल के तौर पर अगर किसी व्यक्ति को सांस लेने में दिक्कत हो रही है या फिर उसे ऐसा महसूस हो रहा है कि उसकी धड़कन बंद चालू हो रही है तो उसे सीपीआर अपने ऊपर ट्राई करवाना चाहिए।

ऐसा करने से सांस लेने की समस्या कुछ ही देर में दूर हो जाती है, साथ ही उसकी दिल की धड़कन भी सामान्य हो जाती है। कई बार समय पर सीपीआर ना मिल पाने के कारण व्यक्ति की स्थिति खराब हो जाती है और उसकी मौत भी हो जाती है।

CPR कैसे देते हैं?

यहां पर आपको यह जान लेना आवश्यक है कि सीपीआर ना तो कोई दवा होती है ना ही यह किसी भी प्रकार का इंजेक्शन होता है बल्कि यह एक बहुत ही सामान्य प्रक्रिया होती है और इसे करने के लिए आपको एक्स्ट्रा में किसी भी साधन का इस्तेमाल करने की आवश्यकता नहीं है। इसे करने के लिए जब किसी मरीज को सीपीआर देने की आवश्यकता हो, तब आपको अपने दोनों हाथों को उसकी छाती पर रखना चाहिए और आपको थोड़ा प्रेशर से उसकी छाती को इस प्रकार से दबाना चाहिए कि उसके दिल की धड़कन नॉर्मल हो जाए।

सीपीआर की प्रक्रिया में आप अपने मुंह से पेशेंट के मुंह में मुंह मिला कर के भी उसे सांसे देने का प्रयास कर सकते हैं। कई बार ऐसा होता है कि जो पेशेंट होता है उसके मुंह में ही चोट लगी होती है। ऐसे में अगर मुंह से सांस लेना पॉसिबल ना हो, तो आप अपने मुंह से उसकी नाक में भी सास देने का प्रयास कर सकते हैं। कुल मिलाकर व्यक्ति की बॉडी में सांस का आदान-प्रदान होना चाहिए। इससे उसकी जान बच सकती है।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है की आपको CPR क्या होता है? और CPR Full Form In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर अभी भी आपके मन में What Is CPR Full Form In Hindi, CPR Kya Hai और Full Form Of CPR In Hindi को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Box में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर आपको CPR (Cardiopulmonary Resuscitation) की जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपने परिवार और दोस्तों के शेयर कर सकते है ताके CPR Kya Hai और CPR Full Form In Hindi के बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो सके।

More Full Form In Hindi

Leave a Comment