SEO क्या होता है? SEO का फुल फॉर्म क्या होता है? SEO Full Form In Hindi

आज हम जानेंगे SEO का फुल फॉर्म क्या होता है? (SEO Full Form In Hindi) के बारे में क्योंकि SEO एक ऐसी चीज है, जिसका इस्तेमाल लगभग हर ब्लॉगर करता ही है और सिर्फ ब्लॉगर ही नहीं हर वेबसाइट इसका इस्तेमाल करती है। अगर किसी ने कितनी भी अच्छी वेबसाइट क्यों ना बनाई हो, उसकी वेबसाइट में अगर SEO ना हो तो उसकी वेबसाइट search engine में रैंक नहीं कर पाएगी

जिसके कारण उसकी वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक नहीं आ पाएगा। आज के इस आर्टिकल में जानेंगे कि SEO का मतलब क्या होता है, SEO Ka Full Form Kya Hota Hai, SEO Meaning In Hindi, What Is SEO Full Form In Hindi की जानकारियां तो, आइए जानते है।

SEO का फुल फॉर्म क्या होता है? – What Is SEO Full Form In Hindi?

Seo Full Form
Seo Full Form

SEO : Search Engine Optimization

SEO का Full Form “Search Engine Optimization” होता है हिंदी में SEO का फुल फॉर्म “खोज प्रणाली अनुकूलन” होता है। SEO एक ऐसा तरीका है,जिसका इस्तेमाल करके कोई भी वेबसाइट या ब्लॉगर अपनी वेबसाइट को गूगल में Rank करवाता है। आपको बता दें कि, गूगल रैंकिंग देने का काम एल्गोरिदम के आधार पर करता है। इसीलिए किसी भी वेबसाइट पर या फिर ब्लॉग पर ज्यादा विजिटर लाने के लिए आपको अपनी वेबसाइट को गूगल सर्च इंजन में टॉप में लाने की कोशिश करनी होती है।

अपनी वेबसाइट को टॉप में लाने के लिए आपको अपनी वेबसाइट का अच्छे से सीईओ करना पड़ता है। तभी आपकी वेबसाइट गूगल के पहले पेज पर या फिर पहली लाइन में आती है,जिसके कारण आपकी वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा ऑर्गेनिक ट्रैफिक आता है। अक्सर एक ही विषय पर गूगल सर्च इंजन पर बहुत सारी वेबसाइट होती है, ऐसे में जिसकी वेबसाइट का SEO सबसे ज्यादा अच्छा होता है, उसकी वेबसाइट गूगल के पहले पेज पर पहली लाइन में आती है।

SEO जरूरी क्यों है?

अपनी वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा विजिटर लाने के लिए और ऑर्गेनिक ट्रैफिक प्राप्त करने के लिए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन बहुत ही आवश्यक होता है, क्योंकि एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि 90% लोग गूगल के पहले पेज के आगे जाते ही नहीं है। ऐसे में जिसकी वेबसाइट गूगल के पहले पेज पर होती है, उसकी वेबसाइट पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक ज्यादा आने के चांस होते हैं, जो एक वेबसाइट के लिए फायदेमंद माना जाता है।

अगर आप गूगल ऐडसेंस से कमाई करते हैं तो आपकी वेबसाइट को गूगल के पहले पेज पर आना आवश्यक होता है, तभी आपकी वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा विजिटर आएंगे और आपके विज्ञापन पर क्लिक करेंगे, जिससे आपकी कमाई ज्यादा से ज्यादा होगी। अगर आपका मतलब पैसे कमाने से नहीं है, तब भी आपको अपनी वेबसाइट का SEO करना ही पड़ेगा।

SEO कितने प्रकार का होता है?

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन मुख्य तौर पर दो प्रकार के होते हैं, जो निम्नानुसार है।

1. On page SEO : आर्टिकल पब्लिश करते समय आप अपने आर्टिकल को गूगल सर्च इंजन में प्रदर्शित करने के लिए उसमें हेडिंग, सब हेडिंग, इंटरनेट लिंकिंग meta description alt tag इत्यादि से उसे ऑप्टिमाइज करते हैं तो इसी प्रक्रिया को ऑन पेज सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कहा जाता है।

2. Off Page SEO : जब कंटेंट लिखने के बाद आप अपने आर्टिकल में एक्सटर्नल बैंक लिंक, सोशल मीडिया शेयरिंग, बैकलिंक, सोशल सिग्नल का यूज करते हैं,तो उसे ऑफ पेज सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कहा जाता है।

अगर आप अपनी वेबसाइट या फिर अपने ब्लॉग को गूगल सर्च इंजन में रैंक करवाना चाहते हैं,तो इसके लिए आपको ऑन पेज सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन और ऑफ पेज सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन दोनों का इस्तेमाल कैसे किया जाता है। इसके अलावा आपको टेक्निकल SEO पर भी ध्यान देना जरूरी है।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है की आपको SEO क्या होता है? और SEO Full Form In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर अभी भी आपके मन में What Is SEO Full Form In Hindi, SEO Kya Hai और Full Form Of SEO In Hindi को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Box में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर आपको SEO (Search Engine Optimization) की जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपने परिवार और दोस्तों के शेयर कर सकते है ताके SEO Kya Hai और SEO Full Form In Hindi के बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो सके।

More Full Form In Hindi