ESI क्या होता है? ESI का फुल फॉर्म क्या होता है? ESI Full Form In Hindi

आज हम जानेंगे ESI का फुल फॉर्म क्या होता है? (ESI Full Form In Hindi) के बारे में क्योंकि अगर आप किसी प्राइवेट सेक्टर में या फिर गवर्नमेंट सेक्टर में नौकरी करने वाले व्यक्ति हैं, तो आपको कभी ना कभी ESI के बारे में अवश्य सुनने को मिला होगा। यह एक ऐसा वर्ड है जो इंश्योरेंस शब्द से संबंध रखता है। इसीलिए हर नौकरी करने वाले व्यक्ति को ESI के बारे में जानकारी रखना आवश्यक होता है।

अगर आप नहीं जानते कि ESI क्या होता है। आज के इस आर्टिकल में जानेंगे कि ESI का मतलब क्या होता है, ESI Ka Full Form Kya Hota Hai, ESI Meaning In Hindi, ESI का मतलब क्या है, What Is ESI Full Form In Hindi की जानकारियां तो, आइए जानते है।

ESI का फुल फॉर्म क्या होता है? – What Is ESI Full Form In Hindi?

Esi Full Form
Esi Full Form

ESI : Employees’ State Insurance

ESI का Full Form Employees’ State Insurance होता है हिंदी में ESI का फुल फॉर्म कर्मचारी राज्‍य बीमा निगम होता है। यह एक स्वास्थ्य बीमा योजना है, जिसके अंतर्गत सभी प्रकार के वर्कर को, चाहे वह किसी भी इंस्टिट्यूट में काम करते हो, सभी को बेनिफिट प्राप्त होता है। ईएसआई के अंतर्गत प्राइवेट कंपनियों, कारखानों और फैक्ट्रियों में काम करने वाले वर्कर इत्यादि को फायदा मिलता है।

इसके अंतर्गत उन्हें Medical और Cash जैसी सुविधाओं की प्राप्ति होती है। सेंट्रल श्रम मिनिस्ट्री ने वैसे वर्करों के लिए मेडिकल की बीमा की सुविधा उपलब्ध करा कर रखी है जिनकी इनकम कम है। इसे कर्मचारी राज्य बीमा यानी कि ESI Scheme कहा जाता है।

ईएसआई का मुख्यालय कहाँ है?

एम्पलाइज स्टेट इंश्योरेंस का हेड क्वार्टर हमारे भारत देश की राजधानी नई दिल्ली में स्थित है। इसके अलावा भी इसके कई सब ब्रांच पूरे भारत भर में फैली हुई है।

भारत में ESI के कितने अस्पताल है?

पूरे भारत भर में टोटल 151 अस्पताल एंप्लाइज स्टेट इंश्योरेंस के हैं। एम्पलाइज स्टेट इंश्योरेंस के इन अस्पतालों में नॉर्मल बीमारी से लेकर क्रिटिकल और अति गंभीर बीमारियों का भी इलाज किया जाता है। वर्तमान के समय में इन अस्पतालों में ESI की कवरेज में शामिल लोगों की ट्रीटमेंट के साथ ही सामान्य लोगों के लिए भी इसे ओपन कर दिया गया है। हमारे इंडिया के कर्मचारी राज्य बीमा निगम पर इस योजना को संचालित और इसका मैनेजमेंट करने का भार है।

ईएसआई के अंतर्गत कौन सी कंपनी आती है?

जिस कंपनी में 10 या फिर 10 से ज्यादा वर्कर होते हैं, वह सभी कंपनी और सभी इंस्टिट्यूट ESI के अंतर्गत आते हैं। महाराष्ट्र और चंडीगढ़ में 20 या फिर उससे ज्यादा कर्मचारी होने पर वो प्रतिष्ठान इस योजना के दायरे में होते हैं।

ईएसआई का फायदा वर्करों को कैसे  मिलता है?

ईएसआई का फायदा ऐसे वर्कर को मिलता है, जिनकी महीने की इनकम ₹21000 या फिर ₹21000 से कम होती है, वही जो लोग दिव्यांग हैं उनके इनकम की सीमा ₹25000 रखी गई है। इसमें वर्कर और नियोक्ता दोनों की बराबर जिम्मेदारी होती है।

ESI में वर्कर और कंपनी का योगदान कितना है?

इसमें वर्कर की सैलरी से 0.75 परसेंट का योगदान होता है, वही वर्कर जिस कंपनी में काम करता है उसकी तरफ से 3.25% का योगदान दिया जाता है। ऐसे कर्मचारी जिनकी रोजाना की सैलरी ₹137 के आसपास है, उन्हें इसमें योगदान देने की आवश्यकता नहीं होती है।

ईएसआई के क्या फायदे हैं?

ऐसे वर्कर जिनकी सैलरी कम है, उन्हें मेडिकल सुविधा देने के लिए सेंट्रल लेबर मिनिस्ट्री ने इस बीमा योजना की शुरुआत की है। इसका बेनिफिट प्राइवेट कंपनी में काम करने वाले वर्कर, फैक्ट्रियों में काम करने वाले वर्कर और कारखानों में काम करने वाले वर्करों को मिलता है। ईएसआई के अंतर्गत वर्करों को फ्री इलाज उपलब्ध कराया जाता है, जिसके लिए वर्कर को ESI डिस्पेंसरी या फिर ESI हॉस्पिटल में जाना पड़ता है। इसका एक ईएसआई कार्ड भी होता है, जिसके आधार पर वर्करों को इसका बेनिफिट प्राप्त होता है। हमारे इंडिया में टोटल 150 से ज्यादा ईएसआई के हॉस्पिटल मौजूद हैं।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है की आपको ESI क्या होता है? और ESI Full Form In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर अभी भी आपके मन में What Is ESI Full Form In Hindi, ESI Kya Hai और Full Form Of ESI In Hindi को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Box में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर आपको ESI (Employees’ State Insurance) की जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपने परिवार और दोस्तों के शेयर कर सकते है ताके ESI Kya Hai और ESI Full Form In Hindi के बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो सके।

More Full Form In Hindi

Leave a Comment