DC क्या होता है? DC का फुल फॉर्म क्या होता है? DC Full Form In Hindi

आज हम जानेंगे DC का फुल फॉर्म क्या होता है? (DC Full Form In Hindi) के बारे में क्योंकि वर्तमान समय में हमारी जिंदगी पूरी तरह से बिजली पर निर्भर हो चुकी है, क्योंकि हमें किसी भी प्रकार के छोटे बड़े इलेक्ट्रिकल काम को करने के लिए बिजली की आवश्यकता पड़ती है।अगर 20 मिनट भी बिजली कट जाती है, तो हमारे कई काम होने मुश्किल हो जाते हैं, क्योंकि बिजली के कारण ही इलेक्ट्रिक उपकरण चलते हैं।

सामान्य तौर पर सबको बस बिजली से मतलब होता है परंतु उन्हें यह नहीं पता होता है कि बिजली भी कई प्रकार की होती है, जिसमें मुख्य तौर पर अधिकतर लोग एसी और डीसी के बारे में जानते हैं। आज के इस आर्टिकल में जानेंगे कि DC का मतलब क्या होता है, DC Ka Full Form Kya Hota Hai, DC Meaning In Hindi, What Is DC Full Form In Hindi की जानकारियां तो, आइए जानते है। 

DC का फुल फॉर्म क्या होता है? – What Is DC Full Form In Hindi?

Dc Full Form
Dc Full Form

DC : Direct Current

DC का Full Form “Direct Current” होता है हिंदी में DC का फुल फॉर्म “दिष्ट धारा” होता है। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि करंट दो प्रकार के होते हैं पहला होता है ऐसी यानी कि अल्टरनेटिंग करंट और दूसरा होता है डीसी यानी कि डायरेक्ट करंट। जो डीसी करंट होता है उसका ग्राफ सीधा होता है।

डीसी  का इतिहास

18 वीं शताब्दी में वैज्ञानिक थॉमस अल्वा एडिसन ने डायरेक्ट करंट का आविष्कार किया था और आपको यह जानकर भी अचरज होगा कि 19वीं सदी की शुरुआत में ही यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका में हर काम के लिए डायरेक्ट करंट का इस्तेमाल होने लगा था, परंतु डायरेक्ट करंट के ट्रांसमिशन के नुकसान को देखते हुए जल्द ही अमेरिका में अल्टरनेटिंग करंट का इस्तेमाल बढ़ने लगा।

डायरेक्ट करंट के स्रोत क्या है?

हम अपने घर में जो बैटरी, सोलर सेल या फिर रेक्टिफायर इस्तेमाल करते हैं वह डायरेक्ट करंट का सोर्स है। इसके अलावा हम अपने घर में जो घरेलू साधन इस्तेमाल करते हैं, उसमें डीसी करंट का इस्तेमाल किया जाता है और यह डीसी करंट एसी करंट से कन्वर्ट होकर ही आता है। जैसे कि हमारे घर में जो टीवी होती है, उसमें हम ऐसी करंट की सप्लाई देते हैं, परंतु ट्रांसफार्मर की सहायता से हमारा टेलीविजन उसे डीसी करंट में अपने आप कन्वर्ट कर लेता है और फिर डीसी करंट के कारण ही हमारा टेलीविजन चलता है।

हम अपनी आवश्यकता के हिसाब से बड़ी ही सरलता के साथ एसी करंट को डीसी में कन्वर्ट कर सकते हैं साथ ही डीसी करंट को भी ऐसी करंट में कन्वर्ट कर सकते हैं।डीसी करंट को एसी करंट में बदलने के लिए इनवर्टर की आवश्यकता पड़ती है जबकि एसी करंट को डीसी करंट में बदलने के लिए रेक्टिफायर का इस्तेमाल होता है।

डीसी करंट के फायदे क्या है?

डायरेक्ट करंट का सबसे बड़ा फायदा यह है कि हम इसे आसानी से स्टोर करके रख सकते हैं। वर्तमान में कई जगह पर डायरेक्ट करंट का इस्तेमाल होता है और इसीलिए इसने हमारी जिंदगी को काफी हद तक चेंज कर दिया है। हमारे घर में जो घरेलू साधन डीसी करंट से चलते हैं वह जल्दी खराब नहीं होते। डीसी करंट का अधिक से अधिक वोल्टेज 12 से लेकर 48 तक होता है। हम कहीं पर भी डायरेक्ट करंट को इस्तेमाल कर सकते हैं। आप चाहे तो सोलर सेल या फिर बैटरी की सहायता से कहीं पर भी तुरंत डीसी करंट को इस्तेमाल में ले सकते हैं। डायरेक्ट करंट में बिजली का तेज झटका लगने की संभावना कम होती है।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है की आपको DC क्या होता है? और DC Full Form In Hindi की पूरी जानकारी प्राप्त हो चुकी होगी। अगर अभी भी आपके मन में What Is DC Full Form In Hindi, DC Kya Hai और Full Form Of DC In Hindi को लेकर कोई सवाल हो तो, आप बेझिझक Comment Box में Comment कर पूछ सकते हैं।

अगर आपको DC (Direct Current) की जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपने परिवार और दोस्तों के शेयर कर सकते है ताके DC Kya Hai और DC Full Form In Hindi के बारे में सबको जानकारी प्राप्त हो सके।

More Full Form In Hindi